22 July 2024

बिग ब्रेकिंग : बनभूलपुरा से लापता 02 नाबालिग बरामद, 05 लोग गिरफ्तार, महिला आयोग ने लिया था मामले में संज्ञान…

दी ग्लोबल टाइम्स न्यूज़/ हल्द्वानी : जनपद नैनीताल के हल्द्वानी क्षेत्र से लापता हुई दो नाबालिग लड़कियों को पुलिस ने बरामद कर लिया है। मामले में उत्तराखण्ड राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष कुसुम कंडवाल ने भी संज्ञान लेते हुए एसएसपी नैनीताल से दोनों नाबालिक किशोरियों को शीघ्र अति शीघ्र सकुशल बरामद करने के निर्देश दिए थे, जिसमें आज पुलिस बहुद्देशीय भवन में एसएसपी प्रहलाद नारायण मीणा ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान अपहरण बड़ी साजिश का खुलासा करते हुए बताया की पुलिस द्वारा बालिकाओं को सकुशल बरामद कर लिया गया है। इस बेहद संवेदनशील मामले ने पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए बड़े स्तर पर बालिकाओं को सकुशल बरामद करने के लिए गठित स्पेशियल टीमों ने कई राज्यों में अलग-अलग जगह पर दबिश दी। वहीं इस साजिश में शामिल पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

जानिए क्या था मामला –

एस०एस०पी० नैनीताल की टीम ने बनभूलपुरा से अपहृता 2 नाबालिग बालिकाओं को किया सकुशल बरामद, अपहरण में शामिल 05 आरोपी गिरफ्तार

घटना का संक्षिप्त विवरण- दिनाँक 21/06/2024 को श्रीमति राधा गोस्वामी w/o स्व० रविन्द्र नाथ गोस्वामी निवासी वार्ड न०- 14. जवाहर नगर थाना वनभूलपुरा जिला नैनीताल द्वारा थाना हाजा पर तहरीर दी थी कि उसकी पुत्री उम्र 15 वर्ष व किरायेदार की पुत्री उम्र 12 वर्ष दिनाँक 20/06/2024 को समय लगभग 7.00 बजे सांय घर से बिना बताये कही चले गये है. जो अभी तक घर वापस नही आये है. उक्त सूचना पर तत्काल थाना हाजा पर FIR NO 134/2024 U/S 365 IPC बनाम अज्ञात पंजीकृत कर विवेचना उ०नि० विनोद घई के सुपुर्द की गयी।

मुकदमा उपरोक्त से सम्बन्धित दोनो नाबालिक लडकियो की गुमशुदगी की संवेदनशीलता के दृष्टिगत प्रहलाद नारायण मीणा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नैनीताल के निर्देशन व प्रकाश चन्द्र पुलिस अधीक्षक नगर हल्द्वानी व नितिन लोहनी क्षेत्राधिकारी नगर हल्द्वानी के पर्यवेक्षण तथा नीरज भाकुनी थानाध्यक्ष बनभूलपुरा के नेतृत्व में तत्काल एसओजी व सर्विलांस को सम्मिलित करते हुये 04 टीमों का गठन किया गया। टीमो द्वारा मामले की गम्भीरता को देखते हुये गुमशुदाओ के रिश्तेदारो सगे सम्बन्धी के बारे मे जानकारी करते हुये सभी सम्भावित स्थानो पर तलाश किया गया, गुमशुदाओ के घरो के आस पास, रोडवेज, रेलवे स्टेशन आदि स्थानों के सीसीटीवी चैक किये गये जिससे गुमशुदाओ का रोडवेज स्टेशन हल्द्वानी से 01 लडके के साथ ई- रिक्शा में बैठकर मंगलपडाव की तरफ जाते हुये दिखायी देना ज्ञात हुआ।

पुलिस ने ऐसे किया रेस्क्यू – 

नाबालिक लडकियो के साथ ई-रिक्शा मे जाने वाले संदिग्ध लडके के सम्बन्ध में जानकारी की गयी तो उक्त लडके की पहचान 16 वर्षिय बालक निवासी जवाहर नगर थाना वनभूलपुरा के रूप में हुई। टीमो द्वारा गुमशुदा व संदिग्ध बालक उपरोक्त के रिश्तेदारो, दोस्तो, पहचान वालो आदि से गहन पूछताछ की गयी तथा गुमशुदा बालिकाओ /संदिग्ध बालक के मोबाईल नम्बर प्राप्त कर सर्विलांस टीम के माध्यम से लोकेशन व सीडीआर प्राप्त की गयी जिनका अवलोकन किया गया।

उक्त बालक की लोकेशन सहसवान जिला बदायू मे ज्ञात होने पर तत्काल गठित पुलिस टीमो को बदायूं, बरेली के अलावा अन्य स्थानों काशीपुर, मुरादाबाद, दिल्ली भेजकर गुमशुदाओ की तलाश की गयी तथा उक्त क्षेत्रो मे गुमशुदाओ व संदिग्ध बालक के रिशतेदार, पहचान वाले, दोस्तो सभी के घर जाकर तलाश तथा पूछताछ की गयी।

जनपद बदायूँ रवाना पुलिस टीम की पूछताछ के दौरान संदिग्ध बालक द्वारा दोनो गुमशुदा लडकियो को लेकर अपनी बहन निशा उर्फ नूरीन पत्नि उजैर उर्फ आसिफ निवासी मृदाटोला थाना सहसवान जिला बदायूं उत्तर प्रदेश के द्वारा उक्त नाबालिगों को यह जानते हुए भी कि वह घर से अपृहत हैं, को अपने घर में छुपाकर रखा गया और बालक की बहन नूरीन उर्फ निशा व उसके पति उजैर उर्फ आसिफ के द्वारा बालक के मामा मौ० अब्दुल शमी उर्फ भोला को सूचना देते हुए अवगत कराया गया।

उसके उपरान्त इन सभी के द्वारा आपराधिक षड्यन्त्र करते हुए उक्त अपहर्ता नाबालिग के सम्बन्ध में पुलिस को गुमराह करते हुए उन्हें किसी अन्य स्थान पर भेज दिया गया और जिसके द्वारा पुलिस को कोई सूचना नहीं दी गयी थी और मामले को छिपाया गया था।

इसके पश्चात पुलिस टीमो द्वारा उझानी, बदायू, बरेली काशीपुर, मुरादाबाद, दिल्ली के सभी सम्भावित बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन व अन्य स्थानो के लगभग 200-250 सीसीटीवी कैमरे चैक किये गये जिससे नाबालिगो व संदिग्ध बालक ट्रेन से बैठकर बरेली से दिल्ली जाना ज्ञात हुआ। तथा गुमशुदा नाबालिग की तलाश हेतु मुखबिर मामूर किये गये पुलिस टीमो द्वारा गुमशुदाओ व संदिग्ध बालक की तलाश हेतु सुरागरसी पतारसी के दौरान थानाध्यक्ष बनभूलपुरा नीरज भाकुनी के नेतृत्व में एसओजी प्रभारी व अन्य नियुक्त पुलिस टीम द्वारा आज दिनाँक 25/06/2024 को मुखबिर की सूचना पर दोनों अपहृत नाबालिग बालिकाओं को रेलवे स्टेशन मंसूरपुर मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश से बरामद किया गया व विधि का उल्लघन करने वाला बालक उपरोक्त को संरक्षण में लिया गया और इनके साथ मौजूद आमिल को भी इस प्रकरण मे पूछताछ हेतु हल्दानी लेकर आये।

अपहर्ताओ से की गयी पूछताछ पर पाया गया कि आमिल द्वारा ही उक्त नाबालिग अपहृत बालिकाओं एव उक्त विधि विवादित किशोर को 1 से 2 दिन तक अपने घर में छिपाकर रखा गया एंव उन्हें भगाने में सहयोग करते हुए भागने के लिए 2000 रूपये भी दिए गये।

निशा, उजैर उर्फ आसिफ व अब्दुल समी उर्फ भोला जिन्हें वृहद पूछताछ हेतु थाने तलब किया गया था, से विस्तृत पूछताछ पर निशा, उजैर उर्फ आसिफ व अब्दुल समी उर्फ भोला द्वारा अपहृत/गुमशुदा नाबालिग बालिकाओ व बालक के बारे में पूर्ण जानकारी होने के उपरान्त भी अपहृत नाबालिक लडकियो को शरण देने तथा इनको छिपाने में मदद करने तथा अपहृत/गुमशुदा लडकियो के परिजनो तथा पुलिस प्रशासन को कोई सूचना नही देने के तथ्य प्रकाश में आये।

जिस कारण मुकदमा उपरोक्त मे निशा उर्फ नूरीन पत्नि उजैर उर्फ आसिफ निवासी मृदाटोला थाना सहसवान जिला बदायूं उत्तर प्रदेश व उजैर उर्फ आसिफ पुत्र हफीज अहमद निवासी मृदाटोला थाना सहसवान जिला बदायूं उत्तर प्रदेश व अब्दुल समी उर्फ भोला पुत्र अब्दुल रशीद निवासी ला०न० 17 थाना बनभूलपुरा व आमिल उपरोक्त को अन्तर्गत धारा 368/120 बी भादवि हिरासत पुलिस में लिया गया।

नाबालिको को गुमराह कर भगाने / संरक्षण देने वाले अभियुक्तगण-

1-आमिल पुत्र अमीर हसन निवासी ग्राम बिहारी थाना सिखेडा जिला मुजफ्फरनगर उ०प्र०

2-निशा उर्फ नूरीन पनि उजैर उर्फ आसिफ निवासी मृदाटोला थाना सहसवान जिला बदायूं उत्तर प्रदेश

3-उजैर उर्फ आसिफ पुत्र हफीज अहमद निवासी मृदाटोला थाना सहसवान जिला बदायूं उत्तर प्रदेश

4-अब्दुल समी उर्फ भोला पुत्र अब्दुल रशीद निवासी ला०न० 17 थाना बनभूलपुरा

5- विधि का उल्लघन करने वाला बालक